Thursday, September 9, 2010

वो बचपन...!!

जब बचपन में छुप-छुप कर हम पतंग उड़ाया करते थे....!
और माली की छोटी बगिया से जब आम चुराया करते थे....!!
जब किसी के बनते घर में हम लुक-छुप जाया करते थे....!
और बैट-बाल में जब अक्सर हम लड़ भी जाया करते थे....!!
अब तब की बातें याद करूँ तो हसना-रोना आ जाता है....!
आँखों में थोड़ा सा पानी और मन भरमा सा जाता है....!!

जब शाम को घर से बाहर जाने की जल्दी होती थी....!
और बातों ही बातों में जब टांग खिचाई होती थी....!!
जब होली पर पक्के रंग से यारों को भिगाया जाता था....!
और उनकी शक्लों को दिखा के फिर लोगों को हसाया जाता था....!!
अब तब की बातें याद करूँ तो..............................!
आँखों में थोड़ा सा पानी और................................!!

जब पेपर में कभी हमारे नंबर कम आया करते थे....!
और घर जाकर बतलाने में हम घबराया करते थे....!!
जब दीवाली में चुन कर हम कुछ नए पठाखे लाते थे....!
और यारों के संग मिलकर जब जोर से उन्हें छुड़ाते थे....!!
अब तब की बातें याद करूँ तो..............................!
आँखों में थोड़ा सा पानी और................................!!

जब जरा-जरा सी बातों पे हम खुलकर हस जाया करते थे....!
और रोने में भी जब अक्सर हम हद कर जाया करते थे....!!
लोगों के लाख मानाने पर मुश्किल से माना करते थे....!
और मान भी जाया करते तो शर्तें बतलाया करते थे....!!
अब तब की बातें याद करूँ तो..............................!
आँखों में थोड़ा सा पानी और................................!!

1 comment: